LS02, 'संतमत दर्शन' में ईश्वर स्वरूप का प्रमाणिक वर्णन किया गया है। --लालदास जी महाराज।

Add a review
वेदों में, योग दर्शनों में, गीता-रामायण में और भारतीय संत-वाणीयों में ईश्वरीय ज्ञान की सच्चाई और परिभाषा क्या है? ईश्वरीय गुण, शक्ति और स्वरूप कैसा है? इसे पढ़ने के लिए इस पुस्तक का अध्ययन अवश्य करें।

Descriptions


LS02, 'संतमत दर्शन' में ईश्वर स्वरूप का प्रमाणिक वर्णन किया गया है। --लालदास जी महाराज। संतमत दर्शन पुस्तक का मुख्य पृष्ठ


LS02, 'संतमत दर्शन' में ईश्वर स्वरूप का प्रमाणिक वर्णन किया गया है। --लालदास जी महाराज। संतमत दर्शन

LS02, 'संतमत दर्शन' में ईश्वर स्वरूप का प्रमाणिक वर्णन किया गया है। --लालदास जी महाराज। संतमत दर्शन पुस्तक का लास्ट कवर

LS02, 'संतमत दर्शन' में ईश्वर स्वरूप का प्रमाणिक वर्णन किया गया है। --लालदास जी महाराज। संतमत दर्शन पुस्तक परिचय।

LS02, 'संतमत दर्शन' में ईश्वर स्वरूप का प्रमाणिक वर्णन किया गया है। --लालदास जी महाराज। संतमत दर्शन पुस्तक के लेखक के शब्द

LS02, 'संतमत दर्शन' में ईश्वर स्वरूप का प्रमाणिक वर्णन किया गया है। --लालदास जी महाराज। संतमत दर्शन पुस्तक का प्रकाश की य

LS02, 'संतमत दर्शन' में ईश्वर स्वरूप का प्रमाणिक वर्णन किया गया है। --लालदास जी महाराज। संतमत दर्शन पुस्तक का प्रकाशकीय समाप्त।

'सन्तमत दर्शन' सद्गुरु सद्ग्रंथ में गुरु गीता से सम्मानित पुस्तक 'महर्षि मेंहीं पदावली' शब्दार्थ, भावार्थ और टिप्पणी सहित पुस्तक की प्रथम पद्य की व्याख्या की पुस्तक है। इस भजन की ऐसी महिमा है कि अगर कोई व्यक्ति इसके प्रत्येक शब्द को अच्छी तरह समझ जाए, तो उसे मनुष्य का ही शरीर मिलेगा, जब तक कि उसे मुक्ति प्राप्त नहीं हो जाती है। यह Pustak सत्संग साहित्य का सिरमौर और संत छोटेलाल (पूज्यपाद लालदास जी महाराज ) दास जी महाराज द्वारा विरचित पुस्तकों में ईश्वर-स्वरूप का बोध कराने में सर्वश्रेष्ठ है।

यहां कोई दिक्कत हो तो       यहां दवाएं।



Similar Products

9113158863852242753

Add a review